Shopping Cart Empty!

    Bhavishye ki Aadharshila

    More Views

    • Bhavishye ki Aadharshila
    • Bhavishye Ki Aadharshila

    Bhavishye Ki Aadharshila [Books]

    Be the first to review this product

    Availability: In stock

    Rs. 350.00
    OR

    Quick Overview

    हमने न मालूम कितने झूठ तय किए हैं। जन्मों-जन्मों से झूठ की एक लंबी कतार खड़ी कर ली है और उस झूठ में हम सब खो गए हैं। हमें कुछ पता नहीं है। हमारा परिवार झूठ है; हमारी कल्पना पर खड़ा है, सत्य पर नहीं। हमारी मित्रता झूठ है; हमारी कल्पना पर खड़ी है, हमारा धर्म झूठ है, हमारी भक्ति झूठ है, प्रार्थना झूठ है; हमारी कल्पना पर खड़ी है, सत्य पर नहीं।
    -ओशो

    Details

    हमने न मालूम कितने झूठ तय किए हैं। जन्मों-जन्मों से झूठ की एक लंबी कतार खड़ी कर ली है और उस झूठ में हम सब खो गए हैं। हमें कुछ पता नहीं है। हमारा परिवार झूठ है; हमारी कल्पना पर खड़ा है, सत्य पर नहीं। हमारी मित्रता झूठ है; हमारी कल्पना पर खड़ी है, हमारा धर्म झूठ है, हमारी भक्ति झूठ है, प्रार्थना झूठ है; हमारी कल्पना पर खड़ी है, सत्य पर नहीं। -ओशो

    Additional Information

    Publisher Divyansh
    ISBN 978-93-80089-01-0

    Product Tags

    Use spaces to separate tags. Use single quotes (') for phrases.